Diwali special motivational story. Happy Diwali. रामायण की कहानी।

Spread the love

Motivational story in hindi. रामायण की कहानी।

Diwali special motivational story. Happy Diwali. रामायण की कहानी।

 ये कहानी है रामायण के उस भाग की जब प्रभु श्रीराम का तीर जाकर के रावण की नाभि में लगा। रावण धराशाई होकर जमीन पर गिर गया अपनी आखिरी सांसें गिन रहा था। श्रीराम की जो सेना थी उसमें जश्न का माहौल था। जश्न मनाया जा रहा था। रावण की मौत होने वाली थी। श्रीराम ने लक्ष्मण को बुलाया और कहा कि एक काम करना फटाफट से मैंने बोला कि क्या भैया क्या काम करना है। श्री राम ने कहा कि फटाफट रावण के पास जाओ। वो महा ज्ञानी है। उस से ज्ञान लेकर के आओ। क्योंकि अगर वो मर गया तो तुम्हें वो ज्ञान नहीं मिल पायेगा जो रावण के पास है। लक्ष्मण हसने लगे और कहा क्या मजाक है। रावण जो घमंडी है अहंकारी है जिसने भाभी का अपहरण किया था उस रावण से आप ज्ञान लेने के लिये कह रहे है। श्रीराम ने कहा कि मेरा आदेश है मानना पड़ेगा। 

लक्ष्मण का मन नहीं था अंदर से बुरा लग रहा था भैया का आदेश था मानना तो पड़ेगा। गए रावण के पास ओर जाकर के रावण के सर के पास जाकर के खड़े हो  गए। रावण के कहा ए रावण तुम्हारा आखरी वक्त चल रहा है। जाने से पहले मुझे ज्ञान देकर के जाओ, भैया ने मुझे भेजा है। लक्ष्मण की आवाज में जो गुस्सा था वो रावण को पसंद नहीं आया। रावण ने सर फेर लिया। लक्ष्मण ने यह देखा तो उसे गुस्सा आ गया। वापस वो गए श्री राम के पास। लक्ष्मण ने कहा भैया मेने पहेले ही कहा था वो घमंडी है अहंकारी है उस से क्या ज्ञान मिलेगा। श्रीराम ने पूछा कि कहा खड़े थे।

 लक्ष्मण ने बताया कि उसके सिर के पास खड़ा था। उसका आखरी वक्त चल रहा है अगर वो कुछ बोलेगा और मुझे सुनाई नहीं दिया तो। छोटे भाई का ये जो मजाक था उसे पसंद नहीं आया। श्रीराम मुस्कुराये और अबकी बार श्रीराम खुद चले गए कुछ बोले नहीं। जाकर के रावण के चरणों मे बैठ गए। उसे नमस्कार किया और कहा है लंकापति रावण आप महा ज्ञानी है पर आपसे भूल हो गई थी। आपने मेरी पत्नी का अपहरण कर लिया था जिसकी सजा मैने आपको दी है। आपके जाने से पहले आपके पास बहिता सारा ज्ञान है। इस संसार को कुछ काम की बाते सीखकर के जाइए। पहली बात तो यह कि तुमने आपने भाई को सीखा दिया कि संस्कार क्या होता है। गुरु के पास ज्ञान लेने जाते है तो उसके सर के पास खड़े नहीं होते पैरो में बैठा जाता है। और दूसरी बात तुम्हारे और मेरे बीच एक अंतर है जिसकी वजह से तुम्हारी जीत हुई है और मेरी हार।

 श्री राम ने निवेदन किया कि क्या अंतर है? रावण ने बताया कि में हर मामले में तुमसे श्रेष्ठ हूं बुद्धि में श्रेष्ठ हूं बल में श्रेष्ठ हूं यहां तक कि तुम्हारे पास सोने का महल है और मेरे पास सोने की नगरी लंका है। रावण ने यह बार श्री राम से कही तो श्री राम ने फिर से कहा कि वो अंतर क्या है जो आपने बताया। तो रावण ने बताया कि तुम्हारा भाई तुम्हारे साथ खड़ा है। लक्ष्मण आखरी वक़्त तक डता हुआ है। और मेरे भाई ने मेरे साथ धोखा किया। मेरे भाई ने तुम्हे जाकर बताया की अगर तीर रावण की नाभि में जाकर लगेगी तो रावण की मौत होगी। अपना मेरे खिलाफ खड़ा है अपना तुम्हारे साथ खड़ा है। दुनिया को बताना कि जिंदगी में अपने साथ होते है। तभी बड़े से बड़ा युद्ध जीता जाता है। 

रामायण की कहानी।

Diwali special motivational story. Happy Diwali. रामायण की कहानी।

HAPPY DIWALI. ❤️


Hindi kahani, Motivational story in hindi, story. 

इसे भी पढ़े।



ऐसे ही पोस्ट के लिए हमारे Telegram को जॉइन करे।

Telegram Join 👇

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *